पाण्डुका पुलिस की नशा के ख़िलाफ़ लगातार कार्यवाही से शराब कोचियों में मचा हड़कम्प - state-news.in
ad inner footer

पाण्डुका पुलिस की नशा के ख़िलाफ़ लगातार कार्यवाही से शराब कोचियों में मचा हड़कम्प

गरियाबंद। अवैध महुआ शराब की तस्करी करने वाला आरोपी को गरियाबंद के पाण्डुका पुलिस ने गिरफ्तार किया है। जिले के समस्त थाना क्षेत्रों में पुलिस नशा के खिलाफ अभियान चलाकर इसके रोकथाम के लिए लगातार कार्यवाही कर रही है। इसी तारतम्य में 05 फरवरी सोमवार को पाण्डुका पुलिस ने आबकारी एक्ट के तहत कार्यवाही की है।

बताया गया कि थाना प्रभारी निरीक्षक सूर्यकांत भारद्वाज द्वारा थाना क्षेत्र में शराब तस्करी/बिक्री एवं जुआ, सट्टा में अंकुश लगाने तथा लोकसभा चुनाव 2024 को मद्देनजर रखते हुए थाना क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए समस्त अधिकारी/कर्मचारियों को वरिष्ठ अधिकारियों

के निर्देशों का पालन करते हुए असामाजिक तत्वों पर कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है। पुलिस से मिली जानकारी के मुताबिक 05.02.2024 को सूचना मिला की ग्राम कोपरा निवासी ईश्वर तारक मोटर सायकल क्रमांक सीजी-13, एच-3327 से ग्राम कुसुमपानी की ओर से अधिक मात्रा में अवैध रूप से महुआ शराब बिक्री वास्ते परिवहन करते आ रहा है तथा स्कूली बच्चों को मोहरा बनाकर पैसो का लालच देकर हाथ भट्ठी से महुआ शराब निकाल कर बिक्री वास्ते तस्करी करता है। उक्त सूचना पर थाना प्रभारी पाण्डुका द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए टीम गठित कर ग्राम सांकरा, तौरेंगा की ओर भेजा गया। तभी आरोपी ईश्वर तारक पिता स्व. भरोसा तारक उम्र 49 वर्ष साकिन कोपरा, थाना पाण्डुका, जिला गरियाबंद द्वारा ग्राम कुसुमपानी की ओर से मोटर सायकल क्रमांक सीजी 13, एच-3327 में एक सफेद रंग की प्लास्टिक बोरी के अंदर प्लास्टिक जर्किन एवं पानी बाटल में हाथ भट्ठी से बना हुआ महुआ शराब से भरा हुआ अधिक मात्रा में कुल 12 लीटर महुआ शराब बिक्री वास्ते परिवहन करते मिला। जिसे आरोपी के कब्जे से जप्त कर पुलिस कब्जा में लिया गया। आरोपी ईश्वर तारक का कृत्य छत्तीसगढ़ आबकारी अधिनियम का होने से आरोपी के विरूद्ध थाना पाण्डुका में अपराध क्रमांक 26 / 2024 धारा 34 ( 2 ) छ.ग. आबकारी अधिनियम का अपराध पंजीबद्ध कर विधिवत गिरफ्तार कर न्यायिक रिमाण्ड पर जेल भेजा गया है।

उक्त कार्यवाही में थाना प्रभारी पाण्डुका निरीक्षक सूर्यकांत भारद्वाज, प्रआर० रामेश्वर महिलांगे, आर० कलेश कश्यप, गंगाधर सिन्हा, कृतेश प्रजापति का कार्य सराहनीय रहा।

Previous article
Next article

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads