चिंतन शिविर में लिया हसदेव को बचाने का संकल्प, छत्तीसगढ़ के प्रतिनिधियों ने रखी अपनी बात - state-news.in
ad inner footer

चिंतन शिविर में लिया हसदेव को बचाने का संकल्प, छत्तीसगढ़ के प्रतिनिधियों ने रखी अपनी बात

 

भारतीय किसान यूनियन (टिकैत) द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर सांगठनिक चार दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन 15 से 18 जनवरी 2024 को मेला ग्राउंड प्रयागराज उत्तरप्रदेश में आयोजित की गई शिविर के तीसरे दिन   भारतीय किसान यूनियन छत्तीसगढ़ के प्रवीण क्रांति प्रदेश प्रभारी, तेजराम विद्रोही प्रदेश महासचिव,उमेश्वर सिंह आर्मो, रामलाल करियांम गुडूराम पोयाम, रामपत कश्यप, जगदीश मंडावी, साहू राम कश्यप, मुनेशवर, अनुज, बुधराम मरकाम, हीरासाय ने छत्तीसगढ़ की परिस्थितियों पर राष्ट्रीय प्रवक्ता चौधरी राकेश टिकैत से विचार विमर्श किया।  हसदेव क्षेत्र में अडानी के लिए किए जा रहे कोयला कोयला उत्खनन हेतु जंगल कटाई से होने वाले दुष्प्रभाव पर हसदेव बचाओ संघर्ष समिति के संयोजक उमेश्वर सिंह आर्मो व रामलाल करियाम ने विस्तार से अपनी बातें रखी ।  

प्रतिनिधियों से विचार विमर्श पश्चात मीडिया से चर्चा करते हुए राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि छत्तीसगढ़ के हसदेव में हो रही वनों की कटाई से आम जनजीवन सहित वन्य जीव और सिंचित भूमि को भारी नुकसान पहुंच रहा है यहां पर जंगली जानवर बस्तियों में पहुंचने लगे हैं और उन्हें उजाड़ने का काम कर रहे हैं मानव जीवन को भारी खतरा है पशु पक्षी वनों की कटाई से पलायन को मजबूर है सरकार पूंजीवाद को बढ़ावा देकर किसान ,मजदूर,आदिवासी की आवाज को दबाना चाहती है हम छत्तीसगढ़ के किसान ,आदिवासियों के साथ हैं और हसदेव की इस लड़ाई में उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलेंगे अगर कोई बड़े आंदोलन की जरूरत पड़ी तो वह भी देश भर में किया जाएगा।

Previous article
Next article

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads