मनरेगा से खुले रोजगार के द्वार....58 हजार श्रमिकों को मिल रहा रोजगार.....फरवरी माह के लक्ष्य का शत-प्रतिशत प्राप्ति.....जिले में कुल 140 करोड़ रुपए के कार्य संपादित........! - state-news.in
ad inner footer

मनरेगा से खुले रोजगार के द्वार....58 हजार श्रमिकों को मिल रहा रोजगार.....फरवरी माह के लक्ष्य का शत-प्रतिशत प्राप्ति.....जिले में कुल 140 करोड़ रुपए के कार्य संपादित........!

 

MRS GROUP 

धमतरी 04 मार्च 2022:- महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत शासन के महत्वपूर्ण योजनाओं के क्रियान्वयन से जिले में विकास की गति तेज हुई है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत प्रियंका महोबिया ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत वित्तीय वर्ष 2021-22 में प्रति दिवस 58 हजार श्रमिकों को रोजगार प्रदान किया जा रहा दो हजार से अधिक नवीन महिला मेटों को कार्य की निगरानी हेतु नियुक्त किया गया है। जिले का प्रगति औसतन प्रदाय मानव दिवस की तुलना में अधिक है। माह जनवरी तक राज्य द्वारा 55 लाख मानव दिवस का लक्ष्य निर्धारित था, जिसके विरुद्ध 55.88 मानव दिवस की प्राप्ति कर लिया गया है। कुल अर्जित  मानव दिवस में महिला श्रमिकों द्वारा 51 प्रतिशत भागीदारी सुनिश्चत की गई।

कलेक्टर सह जिला कार्यक्रम समन्वयक पी.एस.एल्मा के निर्देशन में मनरेगा अंतर्गत कार्यों की स्वीकृति मांग प्राप्त होते ही की जा रही है। बताया गया है कि जिले में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना एवं अभिसरण के तहत 15 नवीन ग्राम पंचायत भवन, 2000 से अधिक सोकपिट निर्माण का कार्य, जैविक तकनीक से खाद तैयार करने हेतु 1800 वर्मी टैंक, 3 वर्षों से 6 वर्ष के नौनिहालों की प्रारंभिक शिक्षा के लिए 65 आंगनबाड़ी भवन का निर्माण किया गया। भूमि के घटते जल स्तर को संरक्षित करने की दृष्टि से 600 से अधिक संरचनाओं का निर्माण जल संग्रहण के लिए किया गया। अब तक कुल स्वीकृत कार्यों में 93 प्रतिशत कार्य पूर्ण करा लिए गए हैं। 112 करोड़ रुपए के मजदूरी भुगतान किया गया है जब की सामग्री पर 22 करोड़ रुपए का भुगतान हुआ है। शत प्रतिशत पंचायतों में कार्य खोला गया। 73 प्रतिशत व्यय जल संरक्षण एवं कृषि आधारित कार्यों पर किया गया है।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत कार्यों में 58 हजार प्रति दिवस श्रमिकों को नियोजित किया जा रहा है। इससे मनरेगा कार्यों में गति आयी है। जिले के धमतरी, कुरूद, मगरलोड, नगरी विकासखंड के ग्राम पंचायत तुमराबहार, गोजी, केकराखोली, मड़ेली, पठार, फरसगांव, कट्टीगांव में मनरेगा योजना के तहत 100 दिवस से अधिक प्रति परिवार को रोजगार प्रदाय किया गया वहीं वनांचल ग्राम आमदी, ठेनही के श्रमिक परिवारों को 90 दिवस से अधिक का काम दिया गया।

महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के कार्यों में महिला श्रमिकों की भागीदारी दिनोंदिन बढ़ रही है। अब तक 51 प्रतिशत महिलाओं के द्वारा कुल सृजित मानव दिवस में रोजगार प्राप्त किया गया है। निर्माण कार्यों में कच्ची नाली, डबरी निर्माण, भूमि सुधार, तालाब निर्माण, गहरीकरण कार्य, मिट्टी सड़क निर्माण, पक्की नाली निर्माण, सीसी रोड, वर्मी टाका, बाड़ी निर्माण, चारागाह में पुरुषों की अपेक्षा महिला श्रमिकों की सक्रिय भागीदारी बढ़ी है और आर्थिक रूप से भी सुदृढ़ हुए हैं। अब तक जिले में 10 हजार 193 परिवारों को 100 दिवस से अधिक का रोजगार प्रदाय किया जा चुका है। माह मार्च 2022 तक कुल 15 हजार से अधिक परिवारों को रोजगार प्रदाय कर लक्ष्य निर्धारण किया गया है। जिले में 40 करोड़ रूपये के मनरेगा एवं विभिन्न योजनाओं की अभिसरण से कार्यों की स्वीकृति की गई है जो कि विगत वर्षों की तुलना में सबसे अधिक है जिसमें 15वां वित्त आयोग, रूर्बन मिशन, स्वच्छ भारत मिशन, बिहान, डी.एम.एफ, गौण खनिज इत्यादि योजनाएं शामिल है।

Previous article
Next article

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads