राजिम माघी पुन्नी मेला की बैठक आयोजित, मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश - state-news.in
ad inner footer

राजिम माघी पुन्नी मेला की बैठक आयोजित, मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को दिए आवश्यक दिशा-निर्देश

 



गरियाबंद।16 फरवरी से शुरू हो रहे राजिम माघी पुन्नी मेला की तैयारियों को लेकर आज धर्मस्व एवं पर्यटन मंत्री की अध्यक्षता में केंद्रीय समिति की बैठक राजिम के मंगल भवन में आयोजित की गई। जिले के प्रभारी एवं संस्कृति मंत्री अमरजीत भगत  एवं विधायक अमितेष शुक्ल भी बैठक में विशेष रूप से उपस्थित रहे। जिले के विभागीय अधिकारियों ने भी बैठक में हिस्सा लिया। 


इस दौरान मंत्री ताम्रध्वज साहू ने तैयारियों की समीक्षा की और विभागीय अधिकारियों को तैयारियां तय समय सीमा में पूर्ण करने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश जारी किए। उन्होंने राजिम माघी पुन्नी मेला की तैयारियां कोरोना गाइडलाइन के तहत करने के निर्देश दिए। कलेक्टर नम्रता गांधी ने जानकारी देते हुए बताया कि गत वर्ष मेला के लिए 3 करोड़ 29 लाख की राशि स्वीकृत हुई थी। इस वर्ष अभी तक जिला प्रशासन को 81 लाख की राशि प्राप्त हो चुकी है। शेष राशि के लिए प्रशासन से मांग की गई है। मेले में व्यवस्था को लेकर स्थानीय लोगो द्वारा बैठक में अपने सुझाव प्रस्तुत किए है।



मंत्री ताम्रध्वज साहू ने गत वर्ष की व्यवस्थाओं पर संतोष व्यक्त करते हुए इस बार भी बेहतर व्यवस्था करने का भरोसा दिलाया है। कलेक्टर को निर्देशित करते हुए उन्होंने कहा कि गत वर्ष जो सुझाव आये थे उनको इस बार भी अमल में लाया जाए। नये मेला स्थल के लिए आरक्षित भूमि पर निर्माण कार्य शुरू करने के निर्देश दिए। उन्होंने कलेक्टर को स्थानीय जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित करने और स्थानीय कलाकारों को अधिक से अधिक मौका देने के लिए निर्देशित किया। इस बार दो मंच बनाने एवं मुख्य मंच पर बड़े आयोजन और दूसरे मंच पर भी कार्यक्रम आयोजित करने निर्देशित किया।



इसके अलावा पीडब्ल्यूडी, पीएचई विभाग, विद्युत विभाग, सिंचाई, खाद्य विभाग, वन विभाग, स्वास्थ्य, स्वसहायता समूहो को अपने विभागीय कार्य समय पर पूर्ण करने के निर्देश दिए।

उन्होंने अफसोस जताते हुए कहा कि गत दो वर्षों से कोरोना के कारण मेले को भव्यता नही दे पा रहे है। उन्होंने इस बार कोरोना के कारण अधिक आमंत्रण नही दिया जाएगा। हालाकिं स्थानीय संत महात्माओं को निमंत्रण दिया जाएगा। उन्होंने इस बार मेला में कुछ नया करने का निर्देश देते हुए कहा कि स्वतंत्रता सेनानियों का सम्मान जैसें कार्यक्रम किये जा सकते है। पुलिस विभाग को बेहतर सुरक्षा विभाग के लिए निर्देश किया।

उन्होंने कहा कि आज पहली मीटिंग है। इसके बाद भी समय-समय पर मीटिंग आयोजित होती रहेंगी। 


जिले के प्रभारी मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व और धर्मस्व मंत्री के निर्देशन में बेहतर आयोजन किया जाता रहा है। उन्होंने इस बार भी बेहतर आयोजन के लिए विश्वास दिलाते हुए कहा कि लोगो से जो भी सुझाव आये है उनपर जरूर अमल किया जाएगा। 


विधायक अमितेष शुक्ल ने बड़ा नाला की सफाई, बेजा कब्जा हटाने, दाल भात सेंटर उचित स्थलों पर संचालित करने, स्थानीय लोगो की निगरानी समिति बनाने का सुझाव रखा। साथ ही पुरस्कार वितरण जैसे कार्यो में जनप्रतिनिधियों को अधिक महत्व देने एवं सड़क चौड़ीकरण करने का सुझाव भी उन्होंने बैठक दिया। 


स्थानीय लोगो मे बैशाखुराम साहू ने मेले में जनप्रतिनिधियों को तव्वजों देने का सुझाव दिया, प्रकाश साहू ने मेला स्थल पर सेनेटाइनर और मास्क की व्यवस्था करने,गोबरा नवापारा पालिकाध्यक्ष धनराज मध्यानी ने नवापारा और चंपारण में भी संस्कृति कार्यक्रम आयोजित करने का सुझाव दिया। इसके अलावा स्थानीय कलाकारों को मौका देने का सुझाव दिया गया। विकास तिवारी ने भी स्थानीय जनप्रतिनिधियों को महत्व नन्दकुमार सोनकर सर्व समाज को जानकी जयंती के दिन भव्य शोभा यात्रा निकलने का सुझाव दिया।

Previous article
Next article

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads