दुर्गम पहाड़ी ग्राम भालूडिग्गी में सुविधाओं का जायजा लेने पहुंची एसडीएम अंकिता सोम , पहली बाहर कोई महिला अधिकारी पहाड़ उपर बसे ग्राम में पैदल जाकर शासन-प्रशासन द्वारा किये जा रहे विकास कार्याें का लिया जायजा, - state-news.in
ad inner footer

दुर्गम पहाड़ी ग्राम भालूडिग्गी में सुविधाओं का जायजा लेने पहुंची एसडीएम अंकिता सोम , पहली बाहर कोई महिला अधिकारी पहाड़ उपर बसे ग्राम में पैदल जाकर शासन-प्रशासन द्वारा किये जा रहे विकास कार्याें का लिया जायजा,


ग्राम पंचायत कुल्हाड़ीघाट के आश्रित ग्राम भालूडिग्गी, जो कि दुर्गम पहाड़ पर स्थित है,इस ग्राम की जनसंख्या 138 है जो मूलतः कमार विशेष पिछड़ी जनजाति के निवासी हैं। यह ग्राम ग्राम पंचायत मुख्यालय कुल्हाड़ीघाट से 10 किलोमीटर की दूरी में स्थित है। इस ग्राम में पहुंचने के लिए कोई रास्ता नहीं है। यहां पर केवल पहाड़ पर चढ़कर पैदल ही पहुंचा जाता है। मैनपुर अनुभाग बनने के बाद यह पहला अवसर है जहां अनुविभागीय अधिकारी राजस्व मैनपुर श्रीमती अंकिता सोम के द्वारा अपने मातहत अधिकारियों तथा जनप्रतिनिधियों के साथ पहुंचकर शासन-प्रशासन द्वारा किये जा रहे हितग्राहीमूलक कार्याे का अवलोकन किया गया। 



एसडीएम श्रीमती अंकिता सोम के द्वारा ग्राम भालूडिग्गी के एक एक घर में जाकर ग्रामीणों का हालचाल जाना तथा शासन के मूलभूत सुविधाओं तथा योजनाओं के क्रियान्वयन के संबंध में जानकारी लिया गया। ग्रामीणों से चर्चा करने पर ग्रामीणों ने अपने ग्राम में महिला अधिकारी को पाकर अत्यंत खुश हुए तथा उनके द्वारा बताया कि हाथियों का दल ग्राम में पहुंचकर मकानों को काफी क्षति पहुंचाया गया है। अतः उन्हें उचित मुआवजा प्रदान किया जावे। इस पर एसडीएम ने वन परिक्षेत्र अधिकारी एस.आर.नेताम को निर्देशित करते हुए हाथियों के द्वारा किये गये क्षति का तत्काल आंकलन करते हुए पीड़ितों को शीघ्रता के साथ क्षतिपूर्ति राशि प्रदान करने के निर्देश दिये। एसडीएम श्रीमती अंकिता सोम के द्वारा ग्राम भालूडिग्गी स्थित प्राथमिक शाला भवन का भी निरीक्षण किया गया। हाथियों के द्वारा प्राथमिक शाला भवन को भी नुकसान पहुंचाया गया है, जिसे उन्होने मुख्य कार्यपालन अधिकारी को तत्काल मरम्मत करने के निर्देश दिये। ग्रामीणों के द्वारा यह बताया गया कि प्राथमिक शाला भालूडिग्गी में पदस्थ शिक्षक नियमित रूप से शाला नहीं आते हैं। इस पर तत्काल संज्ञान लेते हुए एसडीएम श्रीमती अंकिता सोम ने ग्राम के ही पढ़े लिखे कमार युवक को बच्चों को पढ़ाने के लिए तैनात किये, जिस पर ग्रामवासी प्रसन्नता व्यक्त किये। मुख्य कार्यपालन अधिकारी नरसिंह ध्रुव ने ग्रामीणों से मनरेगा के अंतर्गत स्वीकृत कार्यों के संबंध में ग्रामीणों को अवगत कराते हुए अधिक से अधिक भूमि सुधार एवं कूप निर्माण करने हेतु प्रकरण तैयार करने के लिए सचिव प्रेमसिंह ध्रुव एवं रोजगार सहायक हिरौंदी ठाकुर को निर्देश दिये। ग्रामीणों की मांग पर एस.डी.एम. अंकिता सोम ने मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं पंचायत प्रतिनिधियों को अधिक से अधिक रोजगार उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। इस अवसर पर एस.डी.एम अंकिता सोम ने ग्राम भालूडिग्गी में ग्रामीणों की मांग पर सामुदायिक तालाब बनाने के निर्देश भी दिये। एस.डी.एम. अंकिता सोम के द्वारा महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संचालित रेडी टू ईट फूड की उपलब्धता एवं राशन वितरण के संबंध में भी जानकारी लिया गया। इस अवसर पर उपस्थित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा अवगत कराया गया कि जिस भवन भवन में रेडी टू ईट एवं सूखा राशन रखा गया था, उस भवन को हाथियों के द्वारा क्षतिग्रस्त करके सूखा राशन को खा लिया गया है। इस पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं परियोजना अधिकारी, महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा संबंधित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को तीन दिवस के भीतर रेडी टू ईट एवं सूखा राशन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये। एसडीएम अंकिता सोम ने कृषि विभाग के ग्रामीण कृषि विकास अधिकारी को ग्राम भालूडिग्गी में ज्यादा से ज्यादा दलहन, तिलहन फसलों की मिनी कीट एवं मक्का का मिनी कीट वितरण करने की कार्ययोजना तैयार करने हेतु निर्देशित किया गया।  दुर्गम पहाड़ी ग्राम भालूडिग्गी में एसडीएम मैनपुर  अंकिता सोम के साथ मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत मैनपुर नरसिंह ध्रुव, वन परिक्षेत्र अधिकारी कुल्हाड़ीघाट एस.आर.नेताम, ग्रामीण कृषि विस्तार अधिकारी शशिकांत पटेल, ग्राम पंचायत कुल्हाड़ीघाट के सरपंच प्रतिनिधि बनसिंह सोरी, सचिव ग्राम पंचायत कुल्हाड़ीघाट प्रेमसिंह ध्रुव, रोजगार सहायक हिरौंदी ठाकुर भी उपस्थित थे।
Previous article
Next article

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads