गरियाबंद जिले के दो सौ संविदा स्वास्थ्य कर्मियों ने सामूहिक इस्तीफा की पेशकश, प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों को बर्खास्तगी नोटिश के बाद लिया गया निर्णय - state-news.in
ad inner footer

गरियाबंद जिले के दो सौ संविदा स्वास्थ्य कर्मियों ने सामूहिक इस्तीफा की पेशकश, प्रदेश स्तरीय पदाधिकारियों को बर्खास्तगी नोटिश के बाद लिया गया निर्णय

 


गरियाबंद। जिले में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत कार्यरत संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों की नियमितीकरण की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है जिले में लगभग दो सौ संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी कार्यरत हैं, जो कि अपने नियमितीकरण की मांग को लेकर अनिश्चितकालीन हड़ताल में हैं। 


संघ के पदाधिकारियों ने बताया गया कि वर्तमान कांग्रेस सरकार ने अपने चुनावी जनघोषणा पत्र में प्रदेश के सभी अनियमित कर्मचारियों को नियमित करने का वादा किया था, वहीं चुनावी जनघोषणा पत्र में सरकार बनने के 10 दिन के भीतर नियमित करने का वादा किया थाI बताया गया कि प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने के लगभग दो साल बाद भी नियमितीकरण की कोई प्रक्रिया तक शुरू नहीं हो पाई है। इससे की अनियमित कर्मचारियों में रोष व्याप्त है। नियमितीकरण की मांग को लेकर संविदा स्वास्थ्य कर्मचारी अपनी मांग को लेकर डटे हुए हैं और वहीं अब सामूहिक इस्तीफा देने की बात कह रहे हैं।

इस दौरान एनएचएम कर्मचारी संघ जिला इकाई गरियाबंद जिलाध्यक्ष अमृत राव भोंसलें, भूपेश साहू, भूपेंद्र सिन्हा, रजत महतो, केशर सिन्हा, माया, भारत ठाकुर, धीरज शर्मा, शेखर धूरवे, संदीप वर्मा, डॉ लक्ष्मी कांत ठाकुर, डॉ मनोज उत्कर्ष सहित सभी कर्मचारी शामिल थे।

Previous article
Next article

Articles Ads

Articles Ads 1

Articles Ads 2

Advertisement Ads